Rakshabandhan essay in hindi

Rakshabandhan essay in hindi: इस लेख में, मैं अंग्रेजी में रक्षाबंधन निबंध लिखने जा रहा हूँ। यदि आप इसकी तलाश कर रहे हैं, तो आप सही जगह पर आए हैं।

यहां निबंध 200, 300 और 500 शब्दों में लिखा गया है। आप अपने अनुकूल किसी एक को चुनने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र हैं।

तो चलिए बिना आपका कीमती समय बर्बाद किये शुरू करते हैं।

Rakshabandhan essay in hindi ( 500 Words )

1 परिचय

रक्षाबंधन दो शब्दों से मिलकर बना है ‘रक्षा’ और ‘बंधन’। रक्षा का अर्थ है सुरक्षा और बंधन का अर्थ है बंधन।

यह हिंदू धर्म के प्रतिष्ठित त्योहारों में से एक है। इस त्योहार में भाइयों की कलाइयों पर राखी बांधकर बहनों का उनके प्रति प्यार दर्शाया जाता है। यह त्यौहार न सिर्फ एक-दूसरे के बीच के अथाह प्रेम को दर्शाता है बल्कि उनके बीच के पवित्र रिश्ते को भी उजागर करता है। साथ ही, यह उनके बीच के बंधन को भी मजबूत करता है।

यह त्यौहार हर साल सावन के महीने में मनाया जाता है और अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह ज्यादातर अगस्त के महीने में आता है।

भारत में इसे बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस दिन का बहनें बेसब्री से इंतजार करती हैं। इस दिन वे अपने भाइयों को राखी बाँधती हैं, भगवान से उनके समृद्ध और स्वस्थ जीवन के लिए प्रार्थना करती हैं। बदले में, भाई अपनी बहनों को प्यार दिखाते हैं और अपने कर्तव्यों को अच्छी तरह से निभाने का वचन लेते हैं।

2. Why do we celebrate Rakshabandhan?

भारत में रक्षाबंधन का त्यौहार मनाने के पीछे कई कहानियाँ हैं, लेकिन उनमें से कुछ इस प्रकार हैं।

(ए) जब कर्णावती ने राजा हुमायूँ से मदद मांगी

रक्षाबंधन मनाने के पीछे यह सबसे प्रसिद्ध कहानी है। जब मुसलमानों और राजपूतों के बीच युद्ध चल रहा था, तब चित्तौड़ के राजा की पत्नी कर्णावती, जो एक विधवा थी, बहादुर शाह जफर से डरती थी, इसलिए रानी ने हुमायूँ को राखी भेजकर मदद की गुहार लगाई। हुमायूं ने अनुरोध स्वीकार कर लिया और बहादुर शाह जफर से उसकी और उसकी प्रजा की रक्षा की।

उस दिन से हुमायूँ ने रानी को अपनी बहन के रूप में स्वीकार कर लिया और इस प्रकार लोग इसे एक त्यौहार के रूप में मनाने लगे।

Read More –

(बी) राजा बलि ने भगवान इंद्र को धमकी दी

हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, जब भगवान इंद्र को राजा बाली द्वारा धमकी दी गई थी, तो उनकी पत्नी सची ने उन्हें दुष्ट राजा बाली से बचाने के लिए उनके हाथ में रक्षा कंगन बांध दिया था। परिणामस्वरूप रक्षाबंधन का उदय हुआ।

3. How do we celebrate Rakshabandhan?

रक्षाबंधन की तैयारियां एक सप्ताह पहले से ही शुरू हो जाती हैं। बाजारों में राखियों और मिठाइयों की दुकानें सजने लगती हैं। त्योहार से एक दिन पहले और त्योहार के दिन इन दुकानों पर सबसे ज्यादा भीड़ होती है।

लोग अपनी जरूरत के हिसाब से मिठाइयां खरीदते हैं। बहनें बाजारों से राखियां खरीदने लगती हैं। जब वे अपने भाइयों को राखी बांधती हैं, तो सबसे पहले उनके सिर पर कपड़े का एक टुकड़ा रखती हैं, टीका करती हैं, मिठाई से उनका मुंह मीठा करती हैं और अंत में उनके स्वस्थ जीवन के लिए प्रार्थना करती हैं।

इसके अतिरिक्त, जब वे अपने भाइयों को राखी बांधती हैं, तो वे अपने भाइयों से उनकी रक्षा करने का वचन लेती हैं।

रक्षाबंधन के दिन घरों में काफी भीड़ होती है क्योंकि बहनें अपने ससुराल से मायके आती हैं। इसके साथ ही लोगों के घरों में तरह-तरह के व्यंजन बनाए जाते हैं, जिनका परिवार के सभी सदस्य और रिश्तेदार आनंद लेते हैं।

4। निष्कर्ष

रक्षाबंधन का त्योहार बहनों और भाइयों के अटूट रिश्ते को दर्शाता है। इससे बहनों के प्रति हमारा प्यार बढ़ता है।’

यह त्यौहार हिन्दू धर्म की संस्कृति की असली पहचान दिलाता है। दरअसल, इस दिन हम अपनी बहनों के महत्व को समझते हैं। रक्षाबंधन का त्यौहार वो तो अच्छे से समझते हैं जिनकी बहनें उनकी कलाई पर राखी बांधती हैं लेकिन वो लोग इस त्यौहार का मतलब नहीं जानते जिनकी बहनें नहीं होतीं।

समाज में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो लड़कियों को जन्म देने से डरते हैं, लेकिन इस मानसिकता को खत्म करना चाहिए और बिना किसी झिझक के हमें लड़कियों के जन्म पर उतनी ही खुशी होनी चाहिए।

Rakshabandhan essay in hindi ( 300 Words )

रक्षाबंधन सबसे प्रसिद्ध भारतीय त्योहारों में से एक है। इस त्यौहार में बहन अपने भाई की कलाई पर राखी या धागा बांधती है।

वैसे तो रक्षाबंधन मनाने को लेकर कई कहानियां हैं लेकिन सबसे प्रचलित कहानी यह है कि जब देवताओं और राक्षसों के बीच युद्ध छिड़ गया तो भगवान इंद्र थोड़ा घबरा गए। तब इंद्र की पत्नी ने उनकी रक्षा के लिए उनकी कलाई पर रेशम का धागा बांध दिया और अंततः वह युद्ध में सफल हो गए।

तभी से इसे रक्षाबंधन के त्यौहार से जोड़ दिया गया।

रक्षाबंधन का त्योहार हिंदू और जैन समुदाय के लोग बड़ी धूमधाम से मनाते हैं। यह त्यौहार सावन माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है।

रक्षाबंधन का त्यौहार मुख्य रूप से भाई-बहन के पवित्र रिश्ते का प्रतीक है। इस दिन दोनों एक-दूसरे के प्रति प्यार और सुरक्षा का वादा करते हैं। जब बहनें अपने भाइयों को राखी बांधती हैं तो वे उनसे कम से कम एक उपहार की कामना करती हैं, जिसे भाई खुशी-खुशी पूरा करते हैं और उन्हें खुश करते हैं।

इसके अलावा इस दिन बाजारों और घरों में भी खूब चहल-पहल रहती है। इस त्योहार के दौरान राखियां और मिठाइयां सबसे ज्यादा बिकती हैं क्योंकि दोनों का अपना-अपना मूल्य होता है।

पहले राखी धागे या कच्चे सूत से बनाई जाती थी, लेकिन अब राखियों की कई किस्में हैं। आज के समय में इस त्यौहार का महत्व बहुत बढ़ गया है और भविष्य में भी ऐसा ही रहेगा।

Rakshabandhan essay in hindi ( 200 Words )

रक्षाबंधन का त्यौहार भारत के प्रसिद्ध त्यौहारों में से एक है। यह भाई-बहन की भावनाओं से जुड़ा त्योहार है। इसे होली, दिवाली, दशहरा आदि जैसी ही धूमधाम से मनाया जाता है।

यह त्यौहार बहनों और भाइयों के अथाह प्रेम को दर्शाता है।

यह दिन उन सभी लोगों के लिए खास दिन है जो इस त्योहार के महत्व को समझते हैं। रक्षाबंधन का त्यौहार आज भी उतना ही महत्वपूर्ण है जितना प्राचीन काल में था। यह पूरे भारत में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। हम भारतीय इसे राखी त्यौहार के नाम से भी जानते हैं।

रक्षाबंधन का अर्थ है रक्षा करने वाला बंधन। इस त्यौहार के आने से कुछ दिन पहले ही सारी तैयारियां शुरू हो जाती हैं। राखी की दुकानें विभिन्न रंग-बिरंगी राखियों से सज जाती हैं, मिठाइयों के स्टॉल लगने लगते हैं और भी बहुत कुछ।

बहनें अपने भाइयों के लिए राखी खरीदनी शुरू कर देती हैं और भाई उन्हें उपहार के रूप में कुछ देने के लिए खरीदारी शुरू कर देते हैं।

रक्षाबंधन के दिन बहनें सुबह जल्दी उठकर पूजा करती हैं और फिर अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधती हैं। भाई भी उन्हें उपहार देते हैं और पैर छूकर सम्मान करते हैं। घर की महिलाएं स्वादिष्ट खाना बनाती हैं.

इस प्रकार घर के सभी सदस्य इस उत्सव में भाग लेते हैं और उत्सव की शोभा बढ़ाते हैं।

अंतिम शब्द

अंत में, मुझे आशा है कि लेख आपके लिए बहुत उपयोगी साबित हुआ होगा। यहां, मैंने रक्षाबंधन निबंध अंग्रेजी में शीर्षकों के साथ-साथ 300 और 200 शब्दों में लिखा है।

Leave a Comment